motivational

life motivation story-संघर्ष करना ही जीवन का दूसरा नाम है

life motivation story

life motivation story

आपने एक-दो नही अनेको बार इस बात पर जरूर गौर किया होगा कि किसी व्यक्ति को पहले प्रयास में ही सफलता मिल जाती है तो किसी अन्य व्यक्ति को अनेको प्रयास करते रहने से सफलता देरी से मिल पाती है उचाईयो को छू जाने वाले व्यक्तियो में हमसे अलग कुछ भी नही होता

क्योकि सफलता की दौड़ में हम जितने का प्रयास हम सभी कर रहे होते है हा जो लोग सफल है उनका कार्य करने का तरीका हमसे अलग होता है जिसके कारण उन्हें सफलता मिलती है इसका अर्थ ये नही है कि उन्होंने सफल उन्होंने सफल होने के लिए संघर्ष नही किया या उनके जीवन मे किसी प्रेकार की कठिनाई नही आई

उन्होंने जो किया अपने जीवन मे सभी चीजो का प्रयोग करते हुए आगे बढ़ने का प्रयास किया संघर्ष के बिना जीवन मे कुछ भी संभव नही है यह सत्य है कि जब मनुष्य जीवित है तब तक उसका संघर्ष जारी रहता है संघर्ष हमे जीवन को जीने की मजबूती देता है संसार मे कोई भी हो चाहे मनुष्य जीव या प्रकृति जीवन मे संघर्ष का सामना सभी को करना पड़ता है संघर्ष के बाद हमे जो प्राप्त होता है उसका फल बहुत मीठा होता है

इसके ऊपर आज में आपको एक कहानी बताने जा रहा हु इस कहानी से हमे ये सिख मिलेगी की संघर्ष के आगे धुटने टेकने वालो को केवल हर मिलती है और जो डटकर इसका सामना करता है उन्हें सफलता पाने से कोई नही रोक सकता

life motivation story


life motivation story

एक समय की बात है जब एक बिजनेसमैन पूरी तरह से डूब गया था वह पूरी तरह से हताश होकर जंगल मे गया और काफी देर वहां अकेले बैठा रहा कुछ सोचकर भगवान से बोला में है हार चुका हूं मुझे एक बजह बताइये की में हताश क्यो ना होउ मेरा सब कुछ खत्म हो चुका है

भगवान ने जवाब दिया तुम जंगल मे इस घास ओर बांस के पेड़ को देखो जब मैंने इस  घास ओर  बांस को लगाया मैंने दोनों की देखभाल की बराबर पानी दिया बराबर प्रकाश दिया घास बहुत जल्दी बड़ी होने लगी और इस घरती को हर भरा कर दिया लेकिन बांस का बीज बड़ा नही हुआ लेकिन मैंने बांस के लिए अपनी हिम्मत नही हारी

भगवान ने बोलना जारी रखा दूसरे साल  घास ओर घनी हो गई उस पर झाड़ियां आने लगी लेकिन बांस के बीज में कोई ग्रोथ नही हुई लेकिन मैंने फिर भी बांस के बीज के लिए हिम्मत नही हारी तीसरे साल भी बांस के बीज में कोई व्रद्धि नही हुई लेकिन मित्र मैन फिर भी हिम्मत नही हारी चौथे साल भी कोई ग्रोथ नही हुई लेकिन में लगा रहा

भगवान ने कहा पांच साल बाद बांस के बीज से एक छोटा सा पौधा अंकुरित हुआ घास की तुलना में यह बहुत छोटा और कमजोर था लेकिन केवल 6 महीने बाद यह छोटा सा पौधा 100 फिट लम्बा हो गया मैंने बांस की जड़ को इतना बड़ा इतना बड़ा करने के लिए पांच साल लगाया

इस पांच सालों में इसकी जड़ इतनी मजबूत हो गई कि 100 फिट के ऊंचे बांस को संभाल सके जब भी आपको लगे कि आपको जीवन मे बहुत संघर्ष करना पड़ रहा है तो समझ लीजिए कि आपकी जड़ मजबूत हो रही है इसी लिए कभी हार ना माने

कुछ करने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति के लिए इस दुनिया मे कुछ भी असंभव नही है जो चाहेगा कर सकता है

इसलिए हमेशा अपने जीवन मे संघर्ष जारी रखिये क्योकि संघर्ष करना ही जीवन का दूसरा नाम है एक बार किसी ने स्वामी विवेकानंद जी से पूछा की सब कुछ खोने से ज्यादा बुरा क्या हो सकता है तब स्वामी जी ने जबाब दिया

सब कुछ खो देने से ज्यादा बुरा उस उम्मीद को खो देना होता है जिससे हम सब कुछ प्राप्त कर सकते है

इसलिए अपने जीवन से उस उम्मीद को कभी समाप्त मत होने देना में आशा करता हु की आपको जीवन के इस संघष भरे कहानी से कुछ सीखने को जरूर मिल होगा तो अगर आप किसी target को लेके चल रहे है

और आप उसमे असफल हो रहे है तो आप समझ जाइये आपकी जड़ मजबूत हो रही है अगर आप पीछे हट गए तो आप कुछ नही कर सकते जीवन मे क्योकि जीवन मे ऐसा कोई काम नही है जिसमे आपको संघष ना करना पड़े

कई लोग इस संघष को जीवन का एक हिस्सा मानते है और इसे अपना लेते है जो ऐसा करते है वो अपने जीवन मे कुछ भी प्राप्त कर सकते है उसके लिए सब आसान है आज बस इतना ही अगर आपको ये life motivation story  अच्छी लगी है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करे

Thank you

About the author

anupam Srivastava

I m anupam Srivastava the owner off Tech Me Ocean in this blog I m writes on various topics like blogging , Online Earning, free tips and tricks , wordpress etc

3 Comments

Leave a Comment